Delhi NCR Pollution 2019: हापुड़ तक में हालात बदतर, दिल्ली में AIQ 700 पार; गाजियाबाद भी बदहाल

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। Delhi Pollution 2019 : दिल्ली-एनसीआर में सोमवार को भी वायु गुणवत्ता स्तर (Air Quality Index) 700 को पार कर गया है। एक ओर जहां दिल्ली में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर 700 के पार है वहीं, दिल्ली से तकरीबन 50 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में एयर क्वालिटी इंडेक्स 491 है। नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुरुग्राम और सोनीपत में भी कमोबेश स्थिति एक सी है। यहां पर AIQ खतरनाक स्तर पर पहुंचा हुआ है।

वेस्टर्न डिस्टर्बेंस फिर से सक्रिय हो रहा है, जिसके चलते 8 नवंबर तक बादल छाए रहेंगे और 25 किलोमीटर तक की रफ्तार से हवा चल सकती है।

  • एनसीआर में खतरनाक स्तर तक जा चुके प्रदूषण के मुद्दे को संज्ञान लेते हुए सुप्रीम कोर्ट सोमवार को इस पर सुनवाई करेगा।
  • दिल्ली-एनसीआर में 300 टीमें कर रही हैं प्रदूषण को लेकर लापरवाही की निगरानी
  • केंद्र की ओर से कैबिनेट सचिव भी रोजाना समीक्षा करेंगे
  • गाजियाबाद में एयर क्वालिटी इंडेक्स 696
  • नोएडा 751 तो ग्रेटर नोएडा में एयर क्वालिटी इंडेक्स 430 है।
  • दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए 4-15 नवंबर तक Odd-Even लागू है। इसके तहत ऑड दिन इवेन नबंर की गाड़ियां और इवेन के दिन ऑड नंबर की गाड़ियां दिल्ली की सड़कों पर चलेंगी।
  • दिल्ली के परिवहन मंत्री के दफ्तर से जानकारी आ रही है कि 1000 से भी कम इलेक्ट्रिक कारें रजिस्टर्ड हुई हैं। ऐसे में इलेक्ट्रिक वाहनों को छूट देने का निर्णय लिया गया है।
  • हरियाणा शिक्षा विभाग (Haryana Education Department) ने गुरुग्राम और फरीदाबाद में सभी सरकारी, गैरसरकारी के साथ मान्यता प्राप्त स्कूलों को 5 नवंबर तक बंद करने का एलान किया है।
  • केंद्र सरकार लगातार प्रदूषण से बने हालात पर नजर बनाए हुए है, खास प्रदूषण के कारकों मसलन निर्माण कार्यों, कूड़ा जलाने और पराली जलाने पर सख्ती की तैयारी है।
  • शनिवार शाम से चल रही हवाओं ने दिल्ली-एनसीआर के लोगों की परेशानी बढ़ा दी। हल्की हवाओं ने पंजाब-हरियाणा में जलाई जा रही पराली के धुएं के दिल्ली-एनसीआर में पहुंचा दिया।
  • हवा की रफ्तार नहीं बढ़ी तो दिल्ली-एनसीआर के हालात में सुधार होने की उम्मीद नहीं है
  • प्रदूषण से निपटने के लिए 300 टीमें लगातार काम कर रही हैं।
  • राज्य सरकारों को प्रदूषण में कमी लाने के लिए सारे संसाधन उपलब्ध कराए गए हैं।
  • दिल्ली, गुरुग्राम, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 5 नवंबर तक स्कूल बंद
  • खराब मौसम और स्मॉग से हवाई सेवाएं प्रभावित
  • सुबह दिल्ली से सटे गाजियाबाद में AIQ 1200 को पार गया तो नोएडा के हालात भी बदतर रहे
  • दिल्ली के अलीपुर में AIQ 900 तो नरेला इलाके में 986 तो आनंद विहार 979 पहुंच गया। ये तीनों इलाके हरियाणा और यूपी से सटे हुए हैं।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, चक्रवात महा और वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के चलते 7-8 नवंबर को दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और पंजाब में हल्की बारिश होने के आसार हैं। ऐसा हुआ तो लोगों को काफी राहत मिलेगी।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक रणदीप गुलेरिया के मुताबिक, दिल्ली में हालात चिंताजनक हैं। दिल्ली में सांस ले रहा हर शख्स रोज 40 सिगरेट के बराबर प्रदूषण अपने शरीर में ले रहा है।

विशेषज्ञों और डॉक्टरों के मुताबिक, दिल्ली में जिस तरह से हवा जहरीली हो गई है, ऐसी स्थिति में एन-95 मास्क तक बेअसर है।

खतरनाक स्तर पर पहुंचे AIQ के बीच भारत और बांग्लादेश के बीच दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में भारत और बांग्लादेश के बीच T-20 मैच खेला गया, जिसमें भारत को बांग्लादेश ने 7 विकेट से हरा दिया।

इस बीच प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए मकसद से दिल्ली में 4-15 नवंबर तक ऑड-इवेन योजना (Odd-Even Scheme) लागू रहेगी। इस दौरान ऑड तारीख यानी 5, 7, 9, 11, 13, 15 नवंबर को जिन गाड़ियों के आखिरी नंबर 1, 3, 5, 7,9 होंगे, चलेंगी। वहीं, ईवेन तारीख यानी 4, 6, 8, 10, 12, 14 नवंबर को 0, 2, 4, 6, 8 नंबर की गाड़ियां दिल्ली में चल सकेंगी। नियम तोड़ने पर 4000 रुपये का जुर्माना लगेगा।  नियमों में महिलाओं और दो पहिया वाहनों को छूट दी गई है। Odd-Even का यह नियम सोमवार से शनिवार तक सुबह 8 से शाम 8 बजे तक लागू होगा और रविवार को नियम खत्म रहेगा।

5 नवंबर तक दिल्ली-एनसीआर के सभी स्कूल बंद

प्रदूषण के खिलाफ जंग के लिए दिल्ली के अलावा, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और मेरठ में 5 नवंबर तक सभी सरकारी, गैरसरकारी और मान्यता प्राप्त स्कूल बंद रहेंगे।

दिल्ली समेत पंजाब, हरियाणा, यूपी व हरियाणा में 24 घंटे निगरानी

प्रदूषण पर काबू पाने के लिए पीएम मोदी के प्रधान सचिव और कैबिनेट सचिव ने रविवार शाम को दिल्ली के साथ हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और पंजाब के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें यह तय हआ है कि इन सभी राज्यों के मुख्य सचिव अपने अपने यहां 24 घंटे निगरानी करेंगे, तो वहीं केंद्र की ओर से कैबिनेट सचिव भी हर रोज हालात की समीक्षा करेंगे।

दिल्ली-एनसीआर में रविवार को वायु गुणवत्ता स्तर (Air Quality Index) 1000 के पार पहुंच जाने के बाद हड़कंप मच गया। वायु प्रदूषण को लेकर बिगड़े हालात के मद्देजनर राजधानी दिल्ली में पीएम मोदी के प्रधान सचिव पीके मिश्रा ने दिल्ली-एनसीआर से संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक की। इसमें मुख्य सचिवों को इस बात का निर्देश दिया गया कि कैबिनेट सेक्रेटरी और इन राज्यों के मुख्य सचिव खतरनाक होते वायु प्रदूषण पर नजर बनाए रखें। इस बीच खबर आ रही है कि दिल्ली के प्रदूषण से परेशान लोग हिल स्टेशन का रुख कर रहे हैं। डॉक्टरों के भी मुताबिक, दिल्ली में रहना फिलहाल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

बता दें कि दिवाली पर जमकर फोड़े गए पटाखों और पंजाब-हरियाणा में लगातार जलाई जा रही पराली के चलते दिल्ली के साथ इससे सटे गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियााबद समेत दर्जनभर शहरों में वायु गुणवत्ता स्तर (Air Quality Index) 800 से 1000 के आसपास बना हुआ है। रविवार सुबह 1200 के पार तक चले गए AIQ की मशीनें तक फेल हो गईं। बताया जा रहा है कि वायु गुणवत्ता मापने के लिए शहर में लगाई गईं मशीने 500 तक AIQ माप सकती हैं, ऐसे में मुश्किल बढ़ गई।

वहीं, स्थिति यह है कि आंखों में जलन के साथ संबंधी दिक्कतें आम हो गई हैं। खासकर बच्चे और बुजुर्ग इस वायु प्रदूषण से सबस ज्यादा प्रभावित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *