Rapid Rail Metro: दिल्ली मेट्रो से कई जगह पर जोड़ी जाएगी रैपिड मेट्रो, NCR में सफर होगा और आसान

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। एनसीआर ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) ने दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) कॉरिडोर के लिए आनंद विहार से वैशाली के बीच भूमिगत रैपिड मेट्रो के लिए टेंडर जारी किया है। इस कॉरिडोर के लिए भूमिगत हिस्से के लिए यह पहला टेंडर जारी किया गया है। इस हिस्से में भूमिगत टनल का निर्माण न्यू अशोक नगर रैंप, नई दिल्ली से उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के साहिबाबाद रैंप तक टनल बोरिंग मशीन द्वारा किया जाएगा।

मार्च 2023 तक चालू किया जाना है ट्रैक

दिल्ली के हिस्से की सुरंगों के डिजाइन और निर्माण के लिए यह टेंडर जारी किया गया है। इसकी लंबाई 5.8 किलोमीटर है। इस हिस्से में एक भूमिगत आरआरटीएस स्टेशन है, जो आनंद विहार मेट्रो से जुड़ा होगा। एनसीआरटीसी ने साहिबाबाद से दुहाई ईपीई तक 17 किमी प्राथमिकता वाले खंड को मार्च 2023 तक चालू किया जाना है। वहीं, दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ के मोदीपुरम तक पूरा 82 किमी लंबा कॉरिडोर मार्च 2025 तक चालू हो जाएगा। आनंद विहार पर आरआरटीएस स्टेशन को कट एंड कवर विधि द्वारा बनाया जाएगा।

5.73 किलोमीटर लंबा खंड भूमिगत होगा

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर का लगभग 11.53 किलोमीटर का हिस्सा भूमिगत होगा। इसमें न्यू अशोक नगर आरआरटीएस स्टेशन (एलिवेटेड) के शुरू होने से 5.8 किलोमीटर लंबा खंड बीईएल, गाजियाबाद से पहले तक भूमिगत होगा। ब्रह्मपुरी मेरठ मेट्रो स्टेशन (एलिवेटेड) से बेगमपुल आरआरटीएस स्टेशन (एमईएस कॉलोनी मेट्रो स्टेशन से पहले) तक का 5.73 किलोमीटर लंबा खंड भी भूमिगत होगा।

एनसीआरटीसी ने दिल्ली में दो नंबर आरआरटीएस एलिवेटेड स्टेशन यानि सराय काले खां और न्यू अशोक नगर सहित मल्टीमॉडल इंटीग्रेशन स्कीम और जंगपुरा में एक स्टेबलिंग यार्ड स्थापित करने के लिए विस्तृत डिजाइन कंसल्टेंट (डीडीसी) की नियुक्ति का काम शुरू किया है। जंगपुरा में एनसीआरटीसी के तीनों प्रारंभिक कॉरिडोर के लिए फेज-वन के आरआरटीएस कॉरिडोर का मास्टर ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर भी बनाया जाएगा। दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर के दिल्ली के हिस्से में सराय काले खान के पास मौजूदा जल आपूर्ति पाइप लाइन, सीवर व नालों की शिफ्टिंग, बिजली लाइनों का स्थानांतरण और अन्य लाइनों को शिफ्ट करने का कार्य किया जा रहा है। एनसीआरटीसी ने पहले ही पैकेज-एक में (वैशाली से गाजियाबाद) और पैकेज-दो (गाजियाबाद आरआरटीएस स्टेशन से दुहाई) के लिए सिविल निर्माण शुरू कर दिया है

दिल्ली-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर में होंगे 14 स्टेशन

सराय काले खां (एलिवेटेड), न्यू अशोक नगर (एलिवेटेड), आनंद विहार (भूमिगत), साहिबाबाद (एलिवेटेड), गाजियाबाद (एलिवेटेड), गुलधर (एलिवेटेड), दुहाई (एलिवेटेड), मुरादनगर (एलिवेटेड) स्टेशन), मोदी नगर साउथ (एलिवेटेड), मोदी नगर नॉर्थ (एलिवेटेड), मेरठ साउथ (एलिवेटेड), शताब्दी नगर (एलिवेटेड), बेगमपुल (भूमिगत), और मोदीपुरम (एलिवेटेड स्टेशन)। इस गलियारे में दुहाई और मोदीपुरम में दो डिपो-कम-स्टेशन भी हैं।

यह भी जानें

  • 82 किलोमीटर लंबी दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस स्मार्ट लाइन दिल्ली में सराय काले खान, आनंद विहार और न्यू अशोक नगर पर दिल्ली मेट्रो को जोड़ेगी।
  • आनंद विहार आरआरटीएस स्टेशन दिल्ली मेट्रो के आनंद विहार स्टेशन, आनंद विहार में रेलवे स्टेशन, कौशांबी बस टर्मिनल और आनंद विहार आइएसबीटी के साथ बेहतर कनेक्टिविटी सुविधा देगा।
  • इस हिस्से के खुलने से गाजियाबाद आरआरटीएस स्टेशन को दिल्ली मेट्रो के गाजियाबाद नए बस अड्डा स्टेशन से जोड़ा जाएगा, जबकि साहिबाबाद आरआरटीएस स्टेशन प्रस्तावित वसुंधरा सेक्टर-2 मेट्रो स्टेशन और बस टर्मिनल के साथ जोड़ा जाएगा।
  • किमी के प्राथमिकता वाला खंड मार्च 2023 तक चालू होना है
  • किमी लंबा कॉरिडोर मार्च 2025 तक चालू हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *